एक लड़की की कहानी - Sad Romantic Hindi Love Story

एक लड़की की कहानी – Sad Romantic Hindi Love Story

हेलो फ्रेंड्स,मैं हूँ अनमोल और आज मैं आपके साथ अपनी ही एक cousin की “Sad romantic hindi love story” डिसकस करने जा रही हूँ। नेरे cousin का नाम है रिया और वो मुझसे 2 साल छोटी है। वो मेरे साथ बचपन से ही अपनी सरी बातें शेयर किया करती थी। इस बार भी उसने ये ही किया। उसने मेरे साथ अपनी “sad love story” शेयर की। उसकी “love story” इतनी sad थी की उसे सुनकर मुझे भी रोना आ गया। अगर मेरी जगह कोई अनजान व्यक्ति भी होता तो वो भी अपने आँसूं रोक नहीं पाता।

अक्सर ये सुनने को मिलता है की लड़कियों के सिने में दिल नहीं होता, लड़कियां सिर्फ पैसे के पीछे भागती हैं और भी बहुत कुछ, लेकिन इस कहानी में आपको लड़कियों की सच्चाई देखनी मिलेगी। मेरी बेहेन एक बहुत rich family से है, उसको अपने पैसे का बिलकुल भी घमंड नहीं और जिस लड़के से वो प्यार करती है वो बहुत गरीब है। रिया की “true love story” कुछ इस तरह है-

जिस तरह लड़कियों को शोंक होता है शोप्पिंग्स का, घूमने का, पैसे उड़ाने का, रिया उस तरह की लड़की बिलकुल भी नहीं थी। उसको सिर्फ प्यार की भाषा समझ आती है। अपनी ज़िन्दगी से दुखी होकर वो एक दिन अपने घर से दुखी होकर एक पार्क में अपने मन की शांति के लिए घूमने गयी। किसे पता था की उसी पार्क में उसका प्यार भी उसे मिल जायेगा और उस दिन वो ही उसके मन की शांति थी।

रिया की मुलाकात उस दिन रमन से हुई। रमन ही रिया का सच्चा प्यार था। रमन भी आपने मन की शांति के लिए अक्सर रिया की तरह पार्क में आया करता था। उस दिन भी कुछ इसी तरह हुआ। रमन गरीब था और गरीबी के कारन उसके कुछ ख़ास दोस्त नहीं हुआ करते थे और न ही उसने कभी किसी अमीर इंसान से दोस्ती की, न कभी करने का सोचा। जब रिया ने अमन को बताया की वो rich family से है तो अमन थोड़ा घबरा गया। उसने रिया को कहा “कभी गरीब की दोस्ती आमिर से नहीं हो सकती”, तब रिया ने उसके साथ अपनी हर बात शेयर की, रिया ने बताया मेरा परिवार अमीर है लेकिन मैं नहीं। मेरे लिए अमीरी गरीबी कोई मायने नहीं रखती। इस तरह उनकी “love story” शुरू हुई।

वो हर रोज़ एक दुसरे से मिलने लगे,एक दुसरे को जानने जगे, पहचानने लगे और समय के साथ-साथ उनका प्यार और भी गहरा हो गया। उनके प्यार के बीच सिर्फ एक गरीबी और अमीरी का फरक ही था। बाकि सब कुछ ठीक था। मगर रिया को इसका कोई फरक नहीं पढता था। धीरे-धीरे उनका प्यार ओर भी गहरा होता गया।

कुछ महीनो बाद ये बात सामने आयी की वो लड़का तो असल में लड़की से भी आमिर था और वो अच्छे से जानता था की लड़की को पैसे से कोई लेना देना नहीं है इसलिए उसने मेरी बेहेन को अपने जाल में फ़साने के लिए उससे झूठ बोला और अब वो कुछ नहीं कर सकती थी। असल में वो इंसान एक बिगड़ा हुआ रहीस परिवार से बिलोंग करता था। लेकिन मेरी बेहेन उससे सच्चा प्यार करती थी। अब न वो उसे छोड़ सकती थी और न ही उसके साथ अपनी पूरी ज़िन्दगी बिता सकती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *