kabhi bhi himmat na haro – true hindi love story

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

एक़ बार एक़ लडक़ा लडक़ी आपस मे बहुत प्यार क़रते हैै उनक़ी दोस्ती को 3 – 4 साल हो चुक़े है। वो दोनो हर समय आपस मे Phone पर बाते करते रहते है। वो दोनो कभी भी एक़ दुसरे क़े बिना नही रह सकते। एक़ बार लडका लडक़ी को Phone क़र है और कहता है।
लडका :- Hey
लडकी:- आजकल तुम मुझे Ignore क़र रहे हो क़ल तुम ने Phone क़्यो नही क़िया।
लडका :- कल मुझे काफी काम था। और Phone काट देता है। लडकी सोचती है। शायद क़ुछ गलत हो रहा है जो वो मुझ से छुपा रहा है। अगले दिन लडकी फिर उसे Phone करती है।
लडकी:- Hey क्या हाल है आपक़े
लडका :- मुझे Phone ना करो और Phone फिर काट देता है।
लडकी:- Please मुझ से बात क़रोलडका :- मुझे तंग़ न किया करो अब मै तुम से प्यार नही करता।
यह कह कर वो Phone काट देता है। लडकी बहुत परेशान हो जाती है। उसके दिमाग मे जैसे कोई विस्फोट हो गया हो। उसक़ा दिमाग क़ाम करना बंद क़र देता है। उसकी आँखो के साहमने अंधेरा छा जाता है। कुछ समय बाद लडके के Phone पर Call आती है। एक बार लडकी की मां Call पर होती है।
लडकी की मां :- बेटा वह Hospital मे है उसक़ा Accident हो गया है।
लड़का जल्दी से Hospital मे पहुचता है वहा पर लडक़ी से मिलता है। लडकी की आँखो मे आसु होते है।
लडक़ी :- I Love You
लडका :- I Love You dear मैने ऐसा क़हा था क्योक़ि क़ुछ समय बाद शायद मै मर जाऊ मेरे दिल मै छेद है।
लडकी :- अगर तुम मुझे प्यार क़रते हो तो तुम्हे ऐसा नही कहना चाहिए था मेरा दिल टुट ग़या था मै तो ज़ीते जीते जिंदा लाश की तरह हो गई थी। शायद मै कभी भी तुम्हारे बिना न रह सकु।
लडका :- I Love You dear, तुम Please न बोलो तुम्हारी हालत नाजुक है।
लडकी :- तुम अगर मुझे छोड कर चले जाते तो भी मै तुम्हारी यादो क़े सहारे ज़िंदा रह सकती थी पर सिफँ एक ज़िंदा लाश की तरह Please अब तो मुझे छोड क़र नही जाओगे।
लडका :- My dear कभी नही
कहते है फिर लडक़ी ठीक हो गई और लडक़े का दो तीन साल इलाज चला फिर दोनो ने आपस मे शादी क़र ली। अब तो उनक़े छोटे छोटे बच्चेे भी है।
Moral :- कभी भी हिम्मत न हारो।