life mera sapna – true love story

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

आज मै आपको अपनी True Story बताऊगी। इस मे मेरे जीवन का अनुभव है। मै चाहती हुँ ज़ो गलती मैने की है कोई भी लडकी उस गलती को दुबारा न करे। मेरा नाम रीया (बदला हुआ नाम) मैं Noida मे एक MNC मे काम करती थी मेरा काम Customer Relations का था। मेरे Office मे एक लडका भी काम करता था जिसका नाम प्रेम (बदला हुआ नाम) था उसने C.A की हुई थी वह हमारी कम्पनी मे सबसे ऊपर वाली Position पर था उससे ऊपर वाली Position पर सिफँ हमारे Boss थे। सारे Office के लोगो मे प्रेम बहुत Popular था। उसकी सब लोगो से बहुत बनती थी वो हर एक से ऐसे बात करता ज़ैसे वह पता नही कितनी देर से जानता हो। किसी का दिल जितना उसके बाए हाथ का खेल था। शायद वो मुझे पसंद करता था उसकी कोई भी Girlfriend नही थी क़्योक़ि उसका एक ही सपना था बहुत पैसा कमा कर अपनी कम्पनी खडी करना सब लोगो की तरह मुझे भी वह बहुत पसंद था। सच मानो अगर मै सही कहु तो वो एक पती बनने के लिए Perfect था। पर मेरा सपना भी एक बहुत अमीर घर मे शादी करने का था शायद मे इसमे सफल भी हो जाती अगर प्रेम मुझ से न मिलते मुझे आज भी लग़ता है कि प्रेम मुझ से प्यार करते है।अभी तक हम दोनो ने कभी भी एक दुसरे से ऐसे बात नही की है।
आज भी उनका मुझे कभी कभी Message आता है मै भी उन्हे Just Good Wishes के Message Send करती हुँ। जो हमारे Boss थे वो भी प्रेम को अपना बहुत करीबी मानते थे उन्होने प्रेम से मेरे बारे मे सब बाते खुल कर कर ली थी। कि वह मुझ से शादी करना चाहते है। शायद उनमे भी यह हिम्मत न थी एक लडकी को कैेसे मनाया जाता हैा उन्होने अपना Message प्रेम को दिया और प्रेम ने मुझे दिया था कि वो मुझे चाहते है मैने भी हा कर दी क्योकि मे भी प्रेम की तरह जल्दी अमीर बनना चाहती थी।शायद यह मेरी बहुत गलती थी और शायद प्रेम की भी। ऐसे हमारा ( Boss की और मेरी ) रोज मिलना शुरू हो गया। Boss रोज मुझे अपने Cabin मे बुला लेते हम कई कई देर अापस मे बाते करते हमारे Boss भी बहुत अच्छे थे उन्होने भी कभी मुझसे गलत हरक़त नही की पर जब भी मै उनसे बात करती मुझ मे वो Feelings न आती जो एक Girlfriend या Wife मे होनी चाहिए मै उनके साथ सभी Party भी Attend करती अब Office के सब लोगो को हमारे Affairs के बारे मे पता लग़ ग़या था। सब लोग मुझे पहले से ज्यादा Respect देने लग़ पडे थे। सबको पता था अब Permotion पाने का इससे आसान तरीका कोई नही था। ज़ब भी मै कभी प्रेम से मिलती तो मेरा शरीर रूक जाता मेरे दिल की धडकन तेज हो जाती शायद प्रेम की भी मजबुरी के कारण हम कभी आपस मे बात न कर सके कोई बात थी जो मुझे अन्दर से खाई जा रही थी।

पर मुझे इस का कारण कभी भी पता नही लग पा रहा था। मेरी अपनी सहेलियो से भी बात बात पर लडाई हो जाती हम आपस मे लड पडते सभी मुझे कहने लग़ पडे थे कि बडे घर मे जा रही है इसलिए तेरे में घमण्ड आ गया है। पर मुझे मालुम था ऐसा नही है। मेरी एक बहुत Close Friend थी वह हमारे गांव मे रहती है जब भी मे बहुत परेशान होती हुँ तो मे उसके पास जाती हुँ क्योकि वो मुझे मुझ से ज्यादा समझती है। मै उसे जाकर मिली मैने उसे बताया की मै बहुत परेशान रहने लग़ी हुँ मुझे इसका कारण नही पता लग रहा उसने कहा भगवान पर भरोसा रखो सब ठीक हो जाएगा वो दिन दिवाली का दिन था। मेरे Mobile पर Message आया ” Happy Diwali” मैने ज़ब वो पडा तो मेरे मुह पर Smile आ गई। मेरी सहेली ने कहा किसका Message है मैने कहा प्रेम का और उसे प्रेम के बारे मे बताया फिर मेरे Mobile पर मेरे Boss की Call आई हम दोनो ने काफी देर बात की बाद मे मैने अपनी सहेली को बताया कि यह मेरे Boss है जो मुझसे शादी करना चाहते है। शायद इतने मे मेरी सहेली मेरी परेशानी का कारण समझ चुकी थी उसने मुझे कहा तु यह शादी न कर तो मैने कहा क्यो क्या बुराई है मेरे Boss मे वह मुझे बहुत प्यार करते है मै भी उन्हे बहुत प्यार करती हुँ।
फिर उसने कहा तु Boss से नही प्रेम से प्यार करती है मैैने कहा ऐसा नही है। मैने प्रेम को कभी भी ज़्यादा नही बुलाया है। हमारी तो बात भी कम ही होती है। उसने कहा प्यार का मतलब ज्यादा मिलना या ज्यादा बाते करना नही होता प्यार तो अदरूनी रिशता है। मैने कहा तुझे कैसे पता मै प्रेम से प्यार क़रती हुँ। उसने कहा आँखे कभी झुठ नही बोलती तु ही नही प्रेम भी तुझ से बहुत प्यार करता है अगर मेरी बात पर यक़ीन नही है तो उससे बात कर देख ले तेरी दिल की धडकन रूक जाएगी और तुझे ऐसा एहसास होगा की प्रेम तेरे साहमने खडे है। मैने प्रेम को तभी Call की तब प्रेम ने कहा Hey रीया How are you ! तब सच मे मेरे शरीर मै कुछ अलग़ ही अनुभव हुआ और सच मेे मुझ से कुछ न बोला गया और लगा कि प्रेम मेरे साहमने खडे है प्रेम बोले “what happens riya मैने कहा ज़ो नही होना चाहिए था बस मैने Phone काट दिया। शायद प्रेम भी मेरी Feeling जान गए थे पर उन्होने भी अपने Carrier के कारण मुझसे कभी बात नही की। तब जब मै वापस Office गई तब सब मुझ से मिले सिफँ प्रेम को छोड कर जब मै उनके Cabin मे गई तो वो उनकी आँखो मे आसु थे जो शायद मेरे लिए थे मेरे मुह से निकल ग़या I Love You तभी प्रेम भी बोल पडे Me too और उन्होने पकड कर मुझे गले से लगा लिया तब शायद जो बोझ मेरे ऊपर था जो मुझे दिख नही रहा था वह उतर गया। इस तरह हम दोनो ने शादी कर ली अब हम दोनो बहुत खुश है।