love and Study Love Story – in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

Hello दोस्तो, मेरा नाम Hina है | मैं Agra में रहती हूं | मेरी कहानी मेरे बचपन से शुरू होती है | मैं एक अच्छे घर से थी | मेरे पापा के दोस्त का लड़का हमारे शहर पढ़ने आया था और हमारे घर में ही रुका था | मैं उसे बचपन से जानती थी लेकिन मैंने उसे कई साल बाद देखा था | जब वो हमारे घर आने वाला था तो मैं उसे मिलने के लिए बहुत खुश थी | मैं उसे देखना चाहती थी कि वो कैसा दिखता है | जब वो आया तो उसका चेहरा एक दम चमकता हुआ दिखाई दिया | उसने मम्मी-पापा के पैर छुए और प्रणाम किया और मुझे तो जैसे जानता ही नही | मुझे उसे समय बहुत गुस्सा आया और मैं मन में खुश हुई कि चलो आ गया | उसका नाम Pavi है और वो यहां B.tech करने आया है | फिर मैंने उसको उसका कमरा दिखया और फिर उसने Thank you बोला और मैं नीचे चली गयी | वैसे मैं उसो बचपन से ही पसंद करती थी | वो College जाता था और मैं उसका खाना खुद जाकर देकर आती थी | लेकिन कभी बात नही करता था | धीरे-धीरे वो बड़ा होता गया और मैं भी बड़ी होती गयी | मैं बहुत सुदर थी लेकिन उसको दिखता ही नही था | बस मम्मी-पापा को प्रणाम बोल कर सीधा अपने कमरे में पढ़ने चला जाता था | कई बार मुझे डांट पड़ती थी कि वो देख पढ़ता है तो तुन तो बस घुमती रहती है | खैर ऐसे ही उसकी पढ़ाई खत्म हो गयी और बस 1-2 दिन में वो जहाँ से जाने वाला था क्योंकि दुसरे शहर में उसकी नौकरी लग गयी | मैं उस दिन अच्छे से तयार हुई थी | मुझे लगा शायद आज कुछ बोलेगा लेकिन वो ऐसे ही चला गया | उसके जाने के बाद उसके रूम में भी जाने का और ना ही कुछ खाने का मन करता था | मैं बहुत उदास रहती थी | लेकिन एक दिन उसका फ़ोन आया और बोलकी Hello Hina, मैं Ravi बोल रहा हूं | मुझे 2 दिन की छुटी है और मैं यहां आ रहा हूं | बस फिर मैं कई सपने देखने लगी एक अलग सा पागलपन होने लगा | बस उसके आने का इंतज़ार था | वो आया और सीधा अपने कमरे में चला गया | फिर वो बाद में अचानक से मेरे कमरे में आया और बोला कि क्या आप मेरे साथ शाम को Party में चलेंगी … मुझे कुछ समझ नही आ रहा था कि क्या कहूँ | उसने पहली बार मुझे ऐसे क्यों कहा था | मैं उसे हाँ में जवाब दे दिया | मैं शाम तक समझ नही पा रही थी कि क्या पहनू | बहुत सोचा और फिर मैंने लाल Suit पहन लिया और दोड़ते हुये उसे दिखाने गयी और वो मुझे देखता ही रहा | मैंने सोचा आज कुछ ज्यादा ही सुंदर लग रही हूं | वो मेरे पास आया और मेरा हाथ अपने हाथों में लिया मेरा तो जैसे शर्म से मुहं लाल हो गया वो मुझे बस देखता ही रहा | वो बोला कि आज से पहले मैंने इसीलिए नही देखा क्योंकि मैं उसका हकदार नही था | आप बहुत खुबसुरत हो इतना मेरी नज़र में और कोई नही है | लेकिन मैं यहां पढ़कर कुछ बनने आया था | नही तो आपके मम्मी-पापा मुझे नकार देते | आज मैं आपका हाथ मांग सकता हूं लेकिन आज आपका हाथ मेरे हाथों में ना होता | मेरी आँखों में आसूं आ गये मैं उसके गले से लग गयी और फिर हम दोनों Party में गये |
Pavi और मैं रात के करीब 10 बजे Party में से आये थे | फिर वो ऊपर जाकर सो गया और फिर मैं उसके साथ बताये पलों को सोच रही थी | वो सुबह उठकर किसी अपने दोस्त के घर चला गया था | मैं उसके इंतज़ार में कुर्सी लेकर घर के सामने बैठ गयी | वो 9 बजे वापस आया मुझे देखा आँखों ही आँखों में बात हुई पर कुछ समझ नही आया | हम सभी ने एक साथ Breakfast किया | वहीं पर उसने पापा को बोला कि Uncle Hina को Movie दिखने ले जा सकता हूं क्यूंकि कल मैं वापिस नौकरी पर चला जाऊंगा तो पापा बोले हां-हां क्यूँ नही इसी बहाने Hina भी Movie देख लेगी | मैं बहुत खुश थी क्योंकि मैं उससे बहुत प्यार करती हूं | उसने बोला जल्दी से तयार हो जाओ | 11 बजे जाना है मैं जल्दी से Jeans और T-shirt पहनी और हम निकल गये | फिर हम गाड़ी पर गये | पहली बार ऐसे खुल के जीने का मौका मिला | वो बोला कि हम Movie नही देखने, घुमने चलते है मेरी तो ख़ुशी का टिकाना ही नही था | अचानक उसने पूछा कि तुम मुझे प्यार करती हो और मैंने अपने सिर हाँ में हिलाया और फिर मैं पूछा कि तुम मुझसे प्यार करती हो तो उसने भी हाँ में जवाब दिया | फिर हम दस मिनट तक चुप रहें और बाद में Pavi बोला कि Hina तुम अपनी ऑंखें बंद करो मैं तुम्हे कुछ Gift देना चाहता हूं और मैंने आंखे बंद कि और उसने मेरा हाथ पकड़ा और मेरे पुरे बदन पे झुनझुनाहट मच गई फिर उसने Gift दिया और ऑंखें खोलने को कहा | फिर मैंने Gift खोला और उसमें एक कागज़ था और उसमें लिखा था कि I Love you Hina तो मैंने सोचा कि ये तो खुद भी बोल सकता था फिर भी प्यार में सब जायज़ होता है | मैंने भी उसे बोला कि I Love you Pavi… फिर वो बोला कि तुम आज बहुत अच्छी दिख रही हो लेकिन Suit में बहुत अच्छी लगती हो तो फिर मैंने बोला कि शादी के बाद पहनूंगी … मुझे समझ नही आया कि मैं क्या बोल गयी | क्या सोचेगा कि इसको शादी की इतनी जल्दी है | खिर उस बात की प्रवाह नही थी मुझे मैं तो उसे पाना चाहती हूं उस दिन शाम हो गयी थी और फिर हम घर चले गये मेरी पढ़ाई को 6 महीने रह गये थे उसके बाद हम दोनों ने शादी कर ली और आज मैं बहुत खुश हूं सच में Pavi बहुत ही अच्छे हैं | हम दोनों को एक-दुसरे से बहुत अच्छे से समझते है | दुआ करना कि हम हमेशा खुश रहें …….