Love or Panishment Love story – in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

Hello, दोस्तो, मैं आपको अपनी कहानी बताने जा रहा हूं | 11th Class में मेरी एक दोस्त थी | वो मेरी बहुत करीबी दोस्त थी | उसने अपने Boy Friend के बारे में मुझे नही बताया था क्योंकि मैं इन सब चीजों से नफरत करती थी और मैं ऐसी लडकियों से बात नही करती थी और एक दिन जब मुझे पता चला तो मैंने उसे बहुत डांटा और समझाया भी | क्योंकि वो लड़का बहुत सी लडकियों के साथ Time Pass कर चूका था | तब एक दिन उसने मेरी दोस्त से धोखे से मेरा Number ले लिया | और कहा कि वो मुझे 8th Class से बहुत प्यार करता है | मैंने उसे मना किया तो उसने Drugs लेने शुरू कर दिए मैंने उसे फ़ोन पर बहुत समझाया और उसने मुझे करवाचौथ के दिन Purpose किया | लेकिन मैं उसे हमेशा मना कर देती थी | लेकिन उस दिन उस्न्ने बहुत बार मुझे I Love you बोला था | धीरे-धीरे मैं भी उसे प्यार करने लगी | मैं अपनी दोस्त को समझाती थी लेकिन खुद ही उससे प्यार करने लगी ये जानते हए भी कि वो लड़का बहुत सी लडकियों के साथ Time Pass कर चूका है | मैं अपनी Class Topper थी तो मैं अपनी पढ़ाई पर बहुत ध्यान देती थी | रात-रात जाग कर उससे बातें करना, Institute जाना जिससे मेरी तबीयत खराब हो गयी | वो मुझे अपना ध्यान रखने को कहता था | गुस्से में मैंने उसे कह दिया कि मैं मरूं या जिन्दा रहूं तुझे क्या | उसने फ़ोन काट दिया और नींद की 5 गोलियां खा ली | मैं बहुत परेशान हो गयी | जब मैंने उसे डांटा तो उसने भी वही कहा जो मैंने उसे कहा था कि मैं मरूं या जिन्दा रहूँ तुझे क्या | फिर एक दिन उसने मुझे कहा कि अगर प्यार करती हो तो Accept करो नही तो मैं मर जाऊंगा लेकिन मैंने अपनी दोस्त की वजह से Accept नही किया | उसने सच में आत्महत्या करने की कोशिश की | मैं उस दिन उस मुझे I Love you बोला और हम दोनों बहुत रोये धीरे-धीरे फिर हम दोनों पूरी-पूरी रात बातें करने लगे | फिर उसने मुझे मिलने को कहा लेकिन मैंने मना कर दिया क्योंकि मैं जहाँ रहती थी वहां मेरे पापा की बहुत इज्जत है | वहां सब लोग उन्हें जानते थे इसलिए हमें भी जानते थे | तो मैं उसे मिलने के लिए हमेशा मना कर देती थी |एक दिन उसने मुझे बताया कि उसके लिए लड़की देखी जा रही है | मैं उस दिन बहुत ज्यादा रोई | उसने मुझे कहा कि मैं अपनी Family से बात करता हूं और तुम अपनी Family से बात करो | मैं अपनी Family से बहुत प्यार करती हूं | मैंने उसे मना कर दिया और उसने भी दुबारा मुझे कुछ नही कहा | उसकी शादी पक्की हो गयी और वो अपनी पत्नी से बात भी करने लगा | उधर वो बहुत खुश था और मेरी तबीयत बहुत खराब हो गयी थी | मैंने खाना भी छोड़ दिया था और बहुत रोटी थी लेकिन उसे कुछ नही कहती थी क्योंकि वो बहुत खुश था और मेरे पेपर भी Tension में हुए थे | मुझे उमीद नही थी कि मैं पास भी हो पाऊँगी या नही और उनकी शादी कि समय मैं Hospital में थी | जिस दिन उनकी शादी हुई उस दिन मैं अपनी बाजु भी काट ली थी | धीरे-धीरे मैं ठीक हुई और Hospital से घर आई और फिर मेरा Result आया और मेरे बहुत अच्छे Marks आए | मैं Top किया और उस दिन Congratulates कहने के लिए उनका फ़ोन आया और मुझे Congratulates कहा और मेरी आवाज़ सुनकर पूछा कि क्या हुआ और मैंने कहा कुछ नही और तभी उन्होंने मुझे कसम देकर बताने को कहा और मैंने फिर सब कुछ बता दिया और उन्होंने फ़ोन काट दिया और अपनी पत्नी को बस इतना बताया कि मैं उनकी दोस्त हूं | दुसरे दिन उनकी पत्नी का फ़ोन आया और उन्होंने मुझसे बात की और मैंने भी उन्हें कुछ नही बताया क्योंकि मैं उनकी जिंदगी में मुसीबत नही बनना चाहती थी | और आज मैं उनसे बात नही करती हूं , सिर्फ उनकी पत्नी से बात करती हूं | उनके बारे में पूछ कर खुश हो जाती हूं | वो अपनी जिंदगी में बहुत खुश हैं तो मैं उन्हें दुःख नही देना चाहती और मैं आज भी वहीं हूं जहाँ उन्होंने मुझे छोड़ा था | ये सब मैं अपने पापा की इज्जत के लिए किया | मैं आज भी उनसे बहुत प्यार करती हूं | हमेशा उनसे ही प्यार करूंगी और कभी भी किसी लड़के को अपनी जिंदगी में नहीं आने दूंगी | आज मैं सोचती हूं कि काश मुझसे ये गलती ना होती | I Love you so Much……