Main, Zindgi aur Pyar ke bich Sad Love Story – in Hindi

Hello Friend, मेरा नाम Ankush है | मैं एक लड़की को बहुत प्यार करता हूँ | उसने मुझे जिन्दगी में ख़ुशी के लम्हे दिखाए और फिर से मुझे अकेला छोड़ दिया | मैं उसे अभी भी उडी़कता हूँ | उसे मैं 6 साल पहले मिला था | मैं उसे बहुत पसंद करता था | हमारी पूरा-पूरा दिन phone पर बात होती थी | एक दिन मैंने बोला के मैं तुझसे बात नही करूंगा तो उसने पूछा कि क्यों क्या हुआ | मैंने कहा कि मुझे जैसी लड़की चाहिए थी वैसी नही मिली मुझे ऐसी लड़की चाहिए जो मेरा विशवाश बनाकर रखे | मैंने कभी किसी लड़की के बारे में नही सोचा था कि एक दिन मुझे किसी से प्यार हो जायेगा | कुछ दिनों में मुझे उससे प्यार हो गया और मैं उसे प्यार करने लगा | मैंने सोचा कि अगर मैंने उसे Purpose कर दिया तो वो बुरा मान जाएगी | मैंने सोचा कि हम अच्छे दोस्त बनकर ही रहते हैं | फिर एक दिन मैंने उसे Purpose करने की सोची | फिर कुछ दिनों बाद मैंने उसे Purpose किया तो उसने मना कर दिया और उसने कहा कि हम लोग सिर्फ दोस्त बन सकते हैं | वो कहती कि मैं किसी पर विशवाश नही करती | मैंने उसे बताय्या कि मैं उसे कितना चाहता हूँ तो वो बोली कि Relations का कोई Future नही होता और मेरी Family इसे नही Accept करेगी | यदि मैं तुम्हरे साथ Relation में आ जाती हूँ तो इसका क्या फायदा, एक दिन तो हम अलग हो ही जायेंगे | उससे अच्छा है कि हम दोस्त बन कर रहें | मैं उसे बहुत चाहता था | हम दोस्तों कि तरह बातें करते रहे और एक दिन मैंने उससे फिर से जवाब माँगा | एक दिन उसने फोन करके बोला कि हम सिर्फ दोस्त रह सकते हैं, मैं किसी पर विशवाश नही करती और बोली कि आपका कई लड़कियों के साथ चकर है | मैं बोला कि तुम्हे मेरे प्यार को बुरा-भला कहने का कोई भी हक नही है | उसने Sorry बोला और फोन काट दिया | फिर मैंने उसे Massage किया लेकिन उस्न्ने आगे से कोई Reply नही किया और मुझे उसने Block भी कर दिया |

कई महीनों तक ऐसे ही चलता रहा और फिर मेरी जिंदगी में एक नया Turn आया | मेरी तबियत बहुत बिगड़ गयी और मुझे Hospital Admit होना पड़ा | अपनी अपनी तबियत कि और उसकी वजह से परेशान रहने लगा | मैंने उससे बात करने की कोशिश की लेकिन उसने मुझसे कभी भी बात नही की | धीरे-धीरे मेरी Problems बढ़ती गयी | मेरा Future बर्बाद हो गया लेकिन मैं अभी भी उससे मिलना चाहता हूँ | मैंने उसे बहुत बार फ़ोन किया लेकिन वो उठाती ही नही थी | 2 साल बाद मैं किसी दुसरे शहर में चला गया | मैं खुद को बहुत Busy रखने लगा लेकिन उसे भूल नही पाया | मेरी हालत बहुत बिगड़ गयी मैं ठीक से चल भी नही पता था | बहुत देर बाद एक बार फिर मैंने उसे Massage किया और इस बार वो मुझसे बात करना चाहती थी | एक दिन उससे मेरी बात हुयी | वो बोली कि क्या चाहते हो तुम तो मैंने बोला कि मुझे छोड़कर मत जाओ | अब वो बोली कि तुम चाहो तो हम लोग दोस्तों कि तरह रह सकते हैं | अगले दिन उससे बात हुयी और मेरे साथ जो भी हुआ वो मैंने उसे बता दिया और बोला कि चाहे एक दोस्त की तरह ही रहो लेकिन मुझसे दूर मत जाओ | उसके बाद रोज़ बाते होने लगी और उसके वापिस आने से मैं बहुत खुश था| ऐसे लग रहा था कि जैसे मैं व्ही पुराना Ankush हूँ जो मुझे Problem थी वो सभी कम होने लगी | लेकिन फिर उसने कहा कि मैं तुमसे कुछ दिन ही बात कर पाऊँगी | इसके बाद हमारी कभी भी आपस में बात नही होगी | मैंने सोचे कहीं इसे भी मुझसे प्यार हो गया तो मैं इसकी जिंदगी बर्बाद ना कर दूँ | मैं बोला कि तुमाहरी मरजी जब भी बात करनी हो करना मैं तुम्हे Force नही करूंगा | कुछ दिन बाद फिर से बात होने लगी | लेकिन फिर उसने ऐसे कहा कि मैं तुमसे अब बात नही कर पाऊँगी | मेरी जिन्दगी से दूर रहो मुझे किसी दोस्त नही बनाना | मैं भी ये सोचता हूँ कि मैं उससे दूर रहूँ मेरी जिन्दगी का क्या पता कब मुझसे छीन जाए | मैं उसके बिना नही रह सकता ………