Mera Pehla Pyar Love Story – in Hindi

Hello Friends, मेरा नाम Kunal है | मैं Chandigarh से हूँ | पहले हम Ludhiana में रहते थे | बात उस वक्त की है जब मैं School में पढ़ता था | वहां मुझे एक लड़की दिखी जो कि बहुत ही खुबसुरत थी उसका नाम Samridhi था | वो भी हमारी ही Colony में रहती थी | लेकिन मैं उसे वहां कभी भी मिला नही था | मैं उसे School में ही मिलता था | जब मैं उसे पहले बार देखा तो मैं उसे देखता ही रह गया | फिर हम दोनों School में मिलते थे | धीरे-धीरे हम दोनों अच्छे दोस्त बन गये | फिर हम दोनों फ़ोन पर भी बात करने लगे | हम दोनों दिन-रात फ़ोन पर ही लगे रहते थे | हम एक दुसरे से हर बात Share करते थे |

फिर मैंने +2 कर ली और मैं Collage में पढने के लिए चला गया | वहां जाकर भी मैं उससे बात करता था | हम दोनों हमेशा Phone पर बातें करते रहते थे | मेरे दोस्तों को ही इसके बारे में पता था | वो कहती कि हम दोनों शादी करेंगे | मैं भी उससे बहुत प्यार करता था | लेकिन फिर एक बार मेरी जिंदगी में ऐसा Turn आया कि जिसने सब कुछ बदल दिया | एक बार मैं देर रात को उसे फ़ोन किया तो उसका फ़ोन Busy आ रहा था तो मैंने सोचा कि शायद उसके घर से फ़ोन आ रहा होगा | ऐसे ही 4-5 दिन चलता रहा | मैंने उससे पूछा तो उसने कहा कि मेरी Friend का Phone था | फिर भी मैंने उसे Ignore कर दिया | फिर एक दिन मेरे किसी दोस्त ने बताया कि वो किसी और के Relationship में आ गयी है | तो मैं उस पर विशवाश नही करता था | फिर धीरे-धीरे उसने मुझसे बात करना बहुत कम कर दिया | मैं उससे पूछा तो वो बोलती थी कि मुझसे बात मत करो | मैं आपसे बात नही करना चाहती | फिर एक दिन उसने मुझसे कहा कि मैं आपसे बात नही करना चाहती क्योंकि मेरी जिन्दगी में कोई और आ गया है | मैं Shocked हो गया | एक पल के ऐसे लगा के जैसे मेरे पांव नीचे जमीन खिसक गयी हो | फिर मैं बहुत रोता था और बहुत कम खाता-पीता था | मैं बहुत अकेला रहता था | मेरे दोस्त मुझसे पूछते थे तो भी चुप ही रहता था | फिर मैंने Drug लेना शुरू कर दिया | मेरे दोस्तों को पता चला तो उन्होंने मुझे बहुत डांटा और समझाया | लेकिन मेरी दिमाग में हर वक्त वो ही रहती थी | Drug ले-ले कर मेरी सेहत बहुत ही ख़राब हो रही थी | एक बार इसके बारे में मेरे घर पर भी पता चल गया था | उन्हें मेरा बाहर जाना बंद कर दिया | लेकिन फिर धीरे-धीरे मैंने खुद को थोडा़ संभाला | मेरे घर वाले मुझे कभी भी अकेला नही छोड़ते थे | धीरे-धीरे मैंने उसे अपनी जिन्दगी से निकला | मैंने फिर सब कुछ भूलना शूरू किया | लेकिन अब भी वो मुझे भूलती नही है |
दोस्तो मुझे बताओ कि मुझे क्या करना चाहिए ……………….