mera sharabi baap — hindi story

मेरा नाम Radhika (बदला हुआ नाम) है मै करतारपुर की रहने वाली हुँ। मै अपने पापा से बहत प्यार करती हुँ और मेरे पापा भी मुझसे बहत प्यार करते है। मेरे मम्मी इस दुनिया मे नही है। मै और मेरे पापा एक दुसरे से बहुँत प्यार करते है। मेरे पापा कभी भी मुझे दुखी नही देख सकते न ही मै उन्हे। मेरे पापा मेरी खुशी के लिए कुछ भी कर सकते है। पर वो मेरी एक बात है जो वो नही मान रहे है वो बात यह है कि उन्हे शराब पीने की लत लग चुकी है। मै उन्हे कई बार मना भी कर चुकी हुँ पर वो नही मानते कई बार मै उनकी बोतल अगर घर मे देख लु तो वो मै बाहर फैंंक देती ह । इस पर कई बार वो गुस्सा भी हो जाते है। मेरे पापा को blood clotting की बीमारी लग चुकी है डाक्टरो ने उन्हे शराब पीने से बिलकुल मना कर दिया है। पर वो फिर भी चोरी चोरी पी लेते है। जब भी वो शराब पीते है तो मेरा दिल बहुत दुखता है। मुझे समझ नही आता कि मै क्या करू कैसे उनकी यह आदत दुर करू । कल रात जब वो शराब पीने लगे तो मैने देख लिया उन्होने अभी थोडी ही पी थी पर मैने गुस्से मे उनकी बोतल छिन कर फेक दी। मेरे पापा भी गुस्से मे आ गए उन्होने पहली बार मुझ पर हाथ उठाया पर जल्दी ही उनका गुस्सा उतर गया। और वो मुझ से माफी मागने लगे। पर मैने कहा पापा मुझे थप्पड से डर नही लगता न ही यह मेरे दिल को चुभता है।चुभता तब है जब आप शराब पीते हो आपको पता है कि डाक्टर ने क्या कहा था अगर अपनी जिंदगी चाहते हो तो please यह शराब पीना छोड दो पर पापा कुछ नही बोले और चले गए शायद वो अभी भी शराब नही छोडना चाहते थे। कल से मैने पापा को बिलकुल बुलाया नही है न ही कुछ खाया पीय़ा है। मुझे पता है जब तक मै खाना नही खाऊगी तो पापा भी खाना नही खायेगे। पर वो शराब वाली बात नही मान रहे। मुझे बार बार मनाने आ रहे है। मै हर बार उनसे यही शर्त रखती हुँ अगर आप मुझ से प्यार करते हो तो यह शराब छोडनी होगी। अब आप को हम दोनो मे से एक को चुनना होगा। जिसे आप ज्यादा चाहते हो उसे चुन लो। पापा भी कल से बहुत दुखी है मै उन्हे और दुखी नही देख सकती शायद मेरा यह सबर टुट जाए और मै उन्हे बुला लु। पर शायद पापा पहले मान जाए और शराब कभी न पीने का वायदा कर दे। अब देखते है कि क्या होता है अगर मै जीत गई तो जल्दी ही दोबारा यहा पर अपनी feeling share करूगी