Mere Sache Pyar ki Kahani Love Story – in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

Hello दोस्तो, मेरा नाम Sunil है | मैं आपको अपने प्यार की कहानी बताने जा रहा हूं | मैं Collage में पहले साल में अपना Admission करवाया था | मेरा Collage में पहला दिन था | मैं Class में बैठा और दोस्त से बातें करने लगा | तभी कुछ लड़की Ragging करने लगी और मै घबरा गया | क्योंकि ये मेरा पहला Ragging था तो मैं Ragging से पीछा छुड़ाकर दोस्त के साथ बाहर चला गया | वहां पर हम लोग बातें करते रहे | ऐसे करते हए समय बीत गया | फिर दुसरे दिन मैं फिर Collage आया तो फिर मुझे नये दोस्त मिले | वहां एक लड़की से भी मिला जो मुझे बहुत अच्छी लगी | जिसे देखकर मुझे प्यार कि Feelings आई | उसका नाम था Nirmila और वो बहुत अच्छी थी | एक बात और उस लड़की को मैं पहले भी जानता था | लेकिन कभी बात करने की हिम्मत नही हुई | फिर उस दिन Nirmila के साथ बातें की और धीरे-धीरे उसका Number लिया | ऐसे ही फ़ोन पर Massage करते-करते एक दिन मैंने उसे Purpose कर दिया और उसने बोला कि सोच कर बताउंगी | उस दिन मैं बहुत उदास हुआ क्योंकि अगर उसने ना बोल दिया तो मेरा क्या होगा क्योंकि मेरा तो ये पहला प्यार था तो अगले दिन उसका Massage आया जिसमें उसने हाँ लिखकर भेजा | तो मैने बोला कि तुम मुझे सच्च में प्यार करती हो तो उस बोला हाँ सच में मैं तुझे प्यार करती हूं तो उसने बोला कि I Love You Jaan…. तो मैं बहुत खुश हुआ |
उसके बाद दिन-रात फ़ोन पर Massage किया करते थे | वो भी मुझे बहुत प्यार करती थी | उसने एक दिन पूछा कि आप मुझे इतना क्यो शरमाते हो और Collage में बात क्यों नही करते हो तो मैंने बोला कि मुझे शर्म आती है | ऐसे ही हमारे प्यार को 2 साल हो गये | हमारी कहानी हमारे दोनों के घर पता चल गयी थी | मैं और Nirmila Text Massage किया करते थे | वैसे हमारी Face book ID थी लेकिन हम उसे चलते नही थे | मेरी ID उसके पास भी थी लेकिन वो कभी Check नही करती थी | मेरे से एक भुल हो गयी कि Face book ID पर Time-pass के लिए एक Girl friend बना रखी थी लेकिन मैं नही जानता था कि उसे इससे बहुत चोट पहुंचेगी | उसने 5 दिन मुझसे बात नही कि लेकिन बाद में उसने मुझे माफ़ कर दिया | मैं Nirmila से सच्चा प्यार करता था | एक दिन उसने मुझे Hug करने को बोला लेकिन मैं शर्म से नही दे पाया तो उसको मेरे ऊपर संदेह होने लगा और धीरे-धीरे वो मुझसे दूर होने लगी | एक दिन मुझे पता चला कि उसका दूसरा Boy-friend है | मैंने उसे बहुत मनाया और माफ़ी भी मांगी लेकिन वो नही समझी | आखिर में उसने बोला कि मैं सिर्फ तुम्हे दोस्त मानती हूं | मुझे उस दिन बहुत दुःख हुआ | कुछ भी करने का मन नही करता था | मैंने उसे इसलिए जाने दिया क्योंकि सच्चे प्यार का मतलब सिर्फ हांसिल कर पाना ही नही होता | उस प्यार को खो कर भी मैं आज खुश हूं क्योंकि उसने ही मुझे सच्चा प्यार करना सिखाया…..
Thank You Nirmila तुम हमेशा मेरे दिल में रहोगी | तो दोस्तो कैसे लगा मेरा ये अधुरा प्यार……