Mere se baat kro Love Story in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

Hello दोस्तो, मैं एक लड़की के साथ 3 साल तक Relationship में था | उसका नाम Nandni था | हम बहुत खुश थे | हम दोनों एक दुसरे को प्यार करते थे | कुछ दिन बाद मैं सुबह Tuition जाने लगा | मैं रोज़ नही जा पाता था क्योंकि मुझसे सर्दियों में सुबह 5 बजे नही उठा जाता था लेकिन Nandni मेरे को फ़ोन करके उठा देती थी | वो मेरा बहुत ध्यान रखती थी | एक दिन जब मैं Tuition पहुंचा तो मैने देखा कि बहुत ही सुंदर नई लड़की Tuition पर आई हुई थी और मेरे को उसे पहली बार देखते ही प्यार हो गया ,मुझे उसके ही ख्याल आते रहते थे | मैं सुबह 5 बजे उठकर Tuition जाने लगा और उसे ही देखता रहता था और वो मुझे| फिर एक दिन मैंने उसके साथ Dance किया | उसका नाम Mehak था | मैंने Park में उसके साथ बहुत बातें की और फिर Mehak ने मुझे I Love You बोल दिया और मैंने भी I Love You to बोल दिया | फिर हमने एक-दुसरे से Number exchange किया फिर हमने बहुत देर तक एक-दुसरे से बात की | फिर मैंने देखा Nandni का फ़ोन आ रहा था और मैंने फ़ोन उठा लिया और Nandni ने बोला कि किसके साथ बात कर रहें थे और मैंने बहाना बना दिया कि मेरे दोस्त का फ़ोन था | 2 महीने बाद Mehak मुझे Movie दिखने ले गयी और हमने पहली बार Hug किया | Nandni मुझे बोलती थी कि अब आप मुझसे बात क्यों नही करते और मैं उससे Breakup करने का बहाना ढूंढ रहा था | मैंने Mehak को दूसरा और Nandni को दूसरा Number दे रखा था और दो फ़ोन ले रखे थे | Tuition पर हमारे बारे में सभी को पता चल गया था | Mehak और मैं रोज़ बहुत मस्ती करते थे हमने अपने-अपने घर पे झूठ बोल रखा था कि Tuition 5 बजे है जबकि Tuition 5:30 होती थी | हम ठंड में रोज़ Hug किया करते थे | वो पल बहुत ख़ुशी के पल थे | मैं उससे बहुत प्यार करने लगा था | वो अपने ठन्डे हाथ मेरे चेहरे पर लगाती थी और जब मैं उससे ठन्डे हाथ लगता था तब वो दूर भाग जाती थी | फिर मेरा B’day आने वाला था और भगवान में मेरी सुन ली Nandni के पापा का Transfer बहुत दूर हो रहा था और वो शहर छोड़कर जाने वाली थी | मैं ख़ुशी से पागल हो रहा था | फिर मेरे B’day वाले दिन Nandni ने मुझे Park में बुलाया और सारा दिन अपने साथ रखा और Mehak मुझे उडीकती रही और वो मुझे फ़ोन करती रही लेकिन मेरा दूसरा फ़ोन घर पर था | मैंने पहली बार Mehak को इतना गुस्से में देखा वो बहुत गुस्से वाली लड़की थी मैंने उसे मनाया और Nandni चली गयी थी वो शुरू-शुरू में मुझे बहुत फ़ोन किया करती थी | मैंने उसे एक बार भी फ़ोन नही किया | फिर वो बात हैं ना कि कितना भी झूठ छुपाओ एक दिन पता चल ही जाता है | पहली तो Nandni ने Mehak के बारे में पूछा मैंने सब सच-सच बता दिया जो कि मैं पहले ही चाहता था | फिर Nandni ने गालियां दी और रोते-रोते फ़ोन काट दिया और सुबह Tuition पर Mehak गुस्से में आई और अपने फ़ोन पर मेरी और Nandni की Hug करने वाली फोटो मुझे दिखाई और मुझसे पूछा कि ये क्या है Nandni ने मेरे दोस्त को जो कि मेरा पूरा साथ देता था उससे रो-रो कर Mehak का Whatsapp Number ले लिया और Mehak को सारी फोटो भेज दी | फिर Mehak ने मुझे सारी फोटो दिखाई और सबके सामने मुझे थपड मारा और बोला कि कितना झूठ बोलते हो आप और वहां से चली गयी और मैं उसे बहुत फ़ोन किये लेकिन उसने नही उठाये | उसने Tuition पर भी मेरे से बात करना बंद कर दिया |मैं फ़ोन करता और वो नही करती थी | एक दिन मैंने उसका हाथ पकड़ कर उसे Sorry भी बोला लेकिन उसने बोला कि अगर फिर से मुझे परेशान किया तो अच्छा नही होगा | दोस्तो मैं उसे बहुत प्यार करता हूं | लेकिन मैं उससे गलत किया | मैं उसे कैसे भरोसा दिलाऊ कि मैं उसे बहुत प्यार करता हूं …..