My First Love – in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

Hello दोस्तो, ये कहानी मेरे पहले प्यार की है जब मैं 9th Class में था और मेरी उम्र 15 साल की थी |एक दिन एक नई Student मेरी Class में आई | मैं उसका नाम नही बताऊंगा | वो मेरे दोस्त को बहुत पसंद आई और वो उसे Krishma नाम से बुलाने लगा | मैं 9th Class में English की Tuition पढ़ता था तो एक दिन वो मेरे पास आई और मुझे बोली कि आप Sir से English की Tuition लेते हो तो मुझे भी लेनी है तो मैंने बोला कि ठीक है आप Sir से बात कर लो ओ फिर उसने Sir से बात कर ली | और हम दोनों इकठे Tuition पढ़ने लगे | मैं लडकियों से थोड़ा दूर ही रहता था | हम दोनों Sir के घर Tuition लेते थे और हमने School से लेकर Sir के घर तक पैदल ही जाना होता था तो मैं उस लड़की से थोड़ा दूर होकर ही चलता था | तो एक दिन वो Sir से बोली Sir जब ये School से आता है तो मेरे साथ नही चलता तो फिर Sir ने मुझे डांटा तो फिर अगले दिन मैं उसके साथ ही आने लगा | धीरे-धीरे मैं उससे बात करने लगा और हमारी दोस्ती बढने लगी | Sir पढ़ाते-पढ़ाते सो जाते थे तो हम दोनों बहुत बसरी बातें करते थे |
जब वो School या फिर Tuition नही आती थी तो मेरा पढ़ाई में मन नही लगता था | रोज़ Class लगाने से मेरी Study Improve हो रही थी | मेरी Class में Position आने लगी | एक लड़की जिसका नाम VS था वो उस लड़की के पीछे पड़ा था | लेकिन वो उसे बिलकुल पसंद नही करती थी | VS ने मुझे बहुत बार धमकी भी दी कि इस लड़की से अलग रहा कर | लेकिन मैं उसकी बातों में ध्यान नही देता था | ऐसे ही 9th Class निकल गयी |मैं Class में उसकी तरफ देखता था | वो जब मेरी तरफ देखती तो मैं नजरें हटा लेता था | फिर धीरे-धीरे मैं उससे नजरें मिलाने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी | हम दोनों फिर से Tuition पढ़ने लगे लेकिन इस बार कुछ अलग ही हुआ Sir ने हम दोनों को अलग-अलग Batch में Shift कर दिया | अब मुझे ऐसा लगा कि अब ये लड़की मुझे कभी भी नही मिलेगी | लेकिन मेरा एक दोस्त उसके साथ उसके Batch में ही पढ़ता था जो कि उस लड़की को पसंद करता था | लेकिन लड़की उसे भी पसंद नही करती थी क्योंकि उस लड़की का पहले से ही एक Boy Friend था फिर उसके Boy Friend की भी शादी हो गयी | फिर वो लड़की मेरे दोस्त से मेरे बारे में बातें करने लगी और मेरा दोस्त मुझे सारी बातें बताता था कि उसने तेरे बारे में ऐसा बोला | फिर मुझे भी लगने लगा कि वो मुझे पसंद करती है लेकिन दोनों में भी इतनी हिम्मत नही थी कि एक-दुसरे से ये सब बोल दे | मेरे Birthday पर उसने मुझे एक Pen दिया तो मैंने उस Pen के डिब्बे पर उसका नाम लिखकर I Love You लिख दिया और उस डिब्बे को अपने Bag में रख लिया | वो डिब्बा मेरे एक दोस्त के हाथ लग गया जो मेरे साथ Class में बैठता था | उसने वो डिब्बा उस लड़की को दिखा दिया | फिर उस लड़की ने उस समय तो कुछ नही कहा लेकिन जब Tuition गयी तो उसने मेरे दोस्त को ये सब बताया और उसने कहा कि “अपने दोस्त से जाकर पूछना कि क्या वो सच में मुझे पसंद करता है | तो अगले दिन मेरे दोस्त ने मुझे Class में आकर बताया कि वो लड़की तुझे पसंद करती है क्या तू भी सच में उसे पसंद करता है | ये सब सुनकर मैं थोड़ा Confuse हो गया कि उसे हाँ बोलूं या ना | मैं सोच रहा था कि अगर हाँ बोला तो मेरा पढ़ाई में मन नही लगेगा और मैं Fail हो जाऊंगा | तो मैं फिर मना कर दिया | अगले दिन उस लड़की ने मेरे दुसरे दोस्त को मेरे पास भेजा और वो बोला कि “साले बैठे-बठाए तुझे लड़की मिल रही है और तू उसे छोड़ रहा है ” तो फिर मैंने हाँ बोल दिया | फिर मैंने उसका Contact No. ले लिया और फिर हम दोनों फ़ोन पर बात करने लगे | उस समय मेरे पास मेरा अपने फ़ोन नही था तो मैं घर पर लगे Land line फ़ोन से बात करता था | जब उसे लड़की के Parents कहीं बाहर चले जाते तो मैं उससे सारी-सारी रात बात करता था | फिर मैंने फ़ोन ले लिया और फिर हम फोम पर Chat करने लगे | धीरे-धीरे हम एक-दुसरे से चुप-चुप कर मिलने लगे | अब हम पास हो गये और इस बार भगवान भी हमारे साथ थे | हम दोनों Same Batch में Tuition पढ़ने लगे…..