Our True Love Story – in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

Hello दोस्तो, मेरा नाम Kamal है और ये मेरी एक सच्ची कहानी है | जब मैं 12th में था तो मैं और मेरे दोस्तों ने एक ही Class में Admission लिया था | शुरू में मैं Class में किसी के साथ भी बात नही करता था सिर्फ अपने दोस्तों Manav, Hansa, Gullu के बिना किसी से भी बातर नही करता था | फिर धीरे-धीरे सबसे दोस्ती हो गयी | लेकिन एक लड़की से मैंने दोस्ती नही की क्योंकि उसे इन सब चीजों में दिलचस्पी नही थी
फिर July के आखिर में के तू Anjali को पटा कर दिखा और वो भी 1 हफ्ते में | मैं थोड़ा डर गया लेकी मेरे दोस्तों ने मेरा समर्थन किया और फिर मैं उससे लगाव करने लगा फिर हम दोनों ने अपनी बातें एक-दुसरे से साझी की| फिर मैं निश्चा किया कि मैं उसे Purpose करूंगा | उसको किसी से ये बात पता चल गयी कि मैं उसे Purpose करने वाला हूं तो मुझे लगता हैं कि अब वो मुझसे नही मिलेगी | और फिर School में Party हुई और वो सिर्फ मेरे लिए वहां आई | Party के बीच सबके सामने मैं उसे Purpose करता हूं और उसना वहां पर कुछ नही बोला सिर्फ इतना कहा कि वो सोच कर बतायेगी | थोड़ी ही देर बाद मेरी एक दोस्त मुझे आकर बोलती है कि तुझे Anjali बुला रही है | मैं उसके पास गया तो उसने मेरे कानों में मेरे Purpose का Answer दिया और वो भी हाँ में…..
मेरे लिए ये एक Challenge था लेकिन पता नही कब ये Challenge एक प्यार में बदल गया | अगले महीने मुझे अपनी Family के साथ Agra जाना पड़ा लेकिन मैं उसे नही बताया और जिस दिन जाना है उसके 1 दिन पहले बताता हूं तो वो थोड़ी नाराज़ हो जाती है | मैं उससे मिलने क्ले लिए तड़पता हूं | फिर 1 दिन मेरा भाई Manav आकर बोलता है कि Anjali आज School आई थी | फिर मैं 1 उमीद लेकर अगले दिन School जाता हूं कि उससे मिलकर बात करनी है | मैं School पहुंचा तो वो चुपके से अपने घर जा रही थी और मैं उसे पकड़ कर उससे बात करता हूं |
फिर कुछ दिनों बाद हम दोनों का आपस में Contact खत्म हो गया | फिर मैं उसका 8 महीने तक इंतजार करता हूं |
एक दिन मुझे पता चला कि उसने मेरे ही नज़दीक के College में Admission लिया है | मैं उसको समझाता हूं और उससे बात करता हूं तो वो कहती है कि उसके Parents इस रिश्ते के लिए नही मानेगें क्यूंकि मैं Hindu हूं और वो Sikh… फिर भी मैं उसे समझाता हूं तो वो फिर भी नही मानती तो फिर मैंने ठान लिया कि मैं उसे पाकर ही रहूँगा और मैंने भी उसके College में Admission ले लिया | फिर मैंने उसे ये भरोसा दिलाया कि मैं उसका साथ कभी नही छोड़ूगा | हर वक्त उसका साथ दूंगा और उससे शादी करूंगा और वो भी उसके Parents की सहमति से | वो फिर भी नही मानी तो फिर मेरे भाई Hansa ने उसे समझाया और हमारा रिश्ता फिर से शुरू हो गया और अभी तक बहुत अच्छा चल रहा है | मेरे प्यार की कहानी का Hero मेरा भाई Hansa है | अभी सब मान गये हैं | काश अब हमारी शादी ख़ुशी से हो जाए | Thank you Hansa…..

I Love You Anjali…….