Pyar aur Ladki se Nafrat Love Story in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

Hello दोस्तो, मेरा नाम Paras है | मैं Bhopal का रहने वाला हूं | मैंने एक लड़की को बहुत ज्यादा प्यार किया लेकिन वो प्यार मुझे नही किसी दुसरे को मिल गया | उसका नाम Bhavna है | जब मैं 9th में था और वो मुझसे एक साल पीछे 8th में थी | हम दोनों एक ही School में पढ़ते थे | वहां लड़के और लड़किओं की Classes अलग-अलग थी और Classes का समय भी अलग-अलग था | वहां पर लड़किओं की बहुत सुरक्षा थी | मैं उसे देखने केलिए हमेशा उसके घर के आस-पास रहता था | जब भी वो मुझे नज़र आती तो मैं खुश हो जाता था | फिर मेरे पेपर शुरू हो गये और मैं अपनी पढ़ाई पे ध्यान देने लगा | वो भी 8th में पास हो गयी | फिर मैं अगली Class में चला गया | मैं उसे बहुत प्यार करने लगा था | मैं डर के कारन उसे कुछ बोल नही पता था धीरे-धीरे मेरे पेपर भी निकल गये और जो मैंने Note-books बनाई थी वो मैंने उसको दे दी क्योंकि वो भी अच्छे से पास हो सके और उसमें मैं I Love You और बीच-बीच में अपना Mobile No. भी लिख दिया | जब उसने ये सब देखा तो कहने लगी कि Paras ये सब क्या है और मैंने बोला कि कुछ नही | मैं उसके प्यार में पागल हो गया था | फिर मैंने सोचा की उसको Purpose करूंगा | एक दिन हमारे घर के पास किसी की शादी थी और मैंने सोचा कि वहां मैं उसको Purpose करूंगा | मैंने एक Flower खरीदा और शादी पर चला गया | लेकी वो वहां नही आई और मैं निराश हो गया | मैंने वहीं Flower फेंका और घर चला आया | फिर मैंने सोचा कि उसे लिखकर Purpose करूं | मैंने उसे बाद में Letter पर लिखकर Purpose किया और बाद में नीचे I Love You Bhavna मैं तुझे बहुत प्यार करता हूं और तुम्हरे बिना नही रह सकता | 1 घंटे बाद वो मुझे बुलाने आई और मैंने सोचा कि उसने Purpose accept कर लिया लेकिन वैसा नही था | मैंने बोला अभी आ रहा हूं | उसने बोला कि मैं घर जा रही हूं तुम मेरे घर आ जाना | कुछ देर बाद मैं उसके घर गया और उसकी मम्मी ने मुझे डांटा और मेरी बेईज़ती की | Bhavna बहुत रोयी और मैंने उसे रोते हए नही देख सका और बाहर चला गया और बाहर जाकर रोने लगा और रो-रो कर मेरा बुरा हाल हो गया | रात को 12 बजे फ़ोन आया और मैं घर गया और बिना किसी के कुछ बोले अपने कमरे में चला गया | मेरा दिल कह रहा था कि मैं आत्महत्या कर लूं | सुबह मैं अपने हाथ काट लिए और दोनों हाथों में खून बहने लगा | मेरी सेहत हरब हो गयी और मौर मैं 5 दिन तक बिमार रहा | मैं कुछ भी खाता-पीता नही था | बस रोता रहता था | जब उसके घर वालों को पता चला तो सब मुझे देखने आए लेकिन Bhavna नही आई | मैं बहुत टूट गया |
कुछ महीनों बाद पता चला कि वो किसी दुसरे लड़के से प्यार करती है | मैंने उसे फ़ोन किया और बोला कि सिर्फ तुमसे एक बार मिलना चाहता हूं | लेकिन वो मुझे मिलने नही आई | धीरे-धीरे मैं उसे भूलने लगा और उसकी याद भी कम आने लगी |मैं अब भी उसके इंतज़ार में हूं | ये दिल अब भी उसके लिए रोता है | मैं हमेशा प्राथना करता हूं कि वो मुझे मिल जाए……..