Pyar hi Zindgi Hai – Love Story in Hindi

Hello Friends, मेरा नाम Karan हैं | मैं Ganga nagar में रहता हूं | मेरी उम्र 20 साल है | अब मैं अपनी Love Story शुरू करता हूं| आज से 5 साल पहले मैं एक शादी पे गया था | मैं वहां एक दम अनजान था | ना कहीं जाना ना कहीं से बात करना बस मम्मी के पास ही रहता था | वहां 4 लड़किया आई हुई थी जो कि मेरी उम्र की थी | लेकिन मैंने उनसे बात नही की | एक दिन रात का समय था मैं छत पे सोने जा रहा था पर मेरे पास ओढ़ने के लिए कुछ नही था | मैंने अचानक देखा कि दिवार पर एक घगरा था तो मैंने सबसे पूछा कि किसका है तो उधर से Priyanka ने कहा मेरा …. तो मैंने कहा अभी सुबह दूंगा मुझे ठंड लग रही है| फिर वो बोली कि नही तुम उसे गन्दा कर दोगे और वो छत की तरफ भागने लगी तो मैंने वह से पोढ़ी ही हटा दी | फिर वो गुस्सा होकर सो गयी | फिर सुबह ही वो आई और बोली कि मेरा घगरा धो कर दो | मैंने थोडा ड्रामा किया फिर धोने चला गया |
फिर वो आई और बोली अरे मैं तो ऐसे ही बोल रही थी इधर दो मैं साफ़ कर लुंगी | अचानक वो मेरे Bathroom में गिर गयी और मेरा हाथ उसकी Body पे था | मैंने जल्दी से उसे उठाया और वहां से दौर गया | उस दिन से हमारी दोस्ती अच्छी हो गयी | एक साथ खाना पीना था |एक दिन शाम का समय था वो सबको मेहंदी लगा रही थी और उसे मेरे हाथ में भी मेहंदी लगाने को कहा और उसने मना कर दिया | फिर मैंने उससे बात करना छोड़ दिया | वो मुझे Sorry बोलने आई लेकिन मैंने Ignore कर दिया तो वो कमरे में जाकर रोने लगी | मुझसे उसका रोना देखा नही गया और फिर मैंने उसे Sorry बोला और हम घुमने गये और बहुत कुछ साथ में खाया और जब हम शाम को घर आए तो सब हमें डांटने लगे कि तुम दोनों कहाँ गये थे और उस दिन से हमें कोई साथ नही रहने देता था | एक दिन मैंने उसे बताया कि मैं कल यहां से जा रहा हूं तो उसने मुझे एक थपड़ मारा और वो रोने लगी | सुबह जब मैं घर से निकला तो वो रास्ते के बाहर रोटी हुई दिखाई दी और मेरे आंसू भी नही रुक रहें थे | उसने मुझे गिफ्ट के रूप में एक रूमाल दिया और मैंने उसे कुछ दिया तो नही लेकिन उसने मेरे से मेरा रुमाल छुपाकर रख लिया था…. उसे मालूम था कि उसे मैं ऐसा कुछ नही दूंगा कि जो उसे मेरी याद दिलाये …. फिर मैं अपने घर पहुंच गया और मुझे अब कुछ नही पता कि वो कहाँ होगी …..|