Pyar Kya Hai Story – in Hindi

Hello दोस्तो, आज मैं आपसे कोई Story share करने नही जा रहा | बस एक ही सवाल है जो कि हर किसी के मन में आता है कि प्यार, इश्क, मुहब्त ये सब क्या होता है | जो हम Movies में देखते हैं या और कुछ | दुसरे लोगों से मेरा पहला तज़रबा: आजकल के लोग 5% भी प्यार का मतलब नही समझते | जैसी फ़िल्में देखते है, वैसे ही करते हैं लेकिन असल जिन्दगी में ऐसा नही होता |

सबसे बड़ी गलतफहमी कि प्यार पहली नजर में होता है | दूसरी गलतफहमी कि प्यार में लोग एक दुसरे के बिना और कुछ नही देखते | तीसरी गलतफहमी प्यार परवान करना कुदरत कि तरफ से ही होता है |

पहली बात का जवाब: अगर प्यार पहली नजर में हो तो वजह लड़के या लड़की की Personality होती है | क्या मैं ठीक हूँ? क्या यह कुदरती है ? अपने सुना तो होगा कि मोहबत विशवाश पर होती है | तो आप पहली नजर में तो क्या आप जब तक प्यार में मुश्किल हालात का सामना ना कर लो तब तक आप ये Idea लगा ही नही सकते कि Second Person Trust के काबिल है या नही | Second Person आप पर विश्वाश करता है या नही | पहली नजर में तो इंसान बस किसी की शक्ल, Personality, Dress etc. से ही Impress होता है | ये चीज तो प्यार हो ही नही सकती |

दूसरा जवाब: लोग प्यार के बिना एक-दुसरे पर विश्वास कर ही नही सकते या होना ही नही चाहिए | चाहे प्यार में आपका Partner आपके लिए बहुत Special है | मगर हर एक रिश्ते को समय देना बहुत जरूरी है | कुछ लड़के तो लड़कियों के चकर में माता-पीटै को भूल ही जाते है | जो कि सब गलत है | प्यार आपको दूसरों से दूर नही करता बल्कि आपके अंदर इतना प्यार भर देता है कि हर एक को मिलने की इजाजत देता है | जिंदगी से आपको प्यार हो जाता है | प्यार आपको आपके खुदा के और करीब कर देती है |

तीसरी बात का जवाब: एक बात होती है कि अपनी Caste को Priority देना | Real Life में खुद की खुशिओ से ज्यादा दूसरों की ख़ुशी का ध्यान रखना पड़ता है | लेकिन सचे प्यार में आप ये सब कुछ नही देखते | इस Situationमें अपने प्यार में भरोसा होना चाहिए | हम प्यार को तब प्यार मानते है जब वो हमें सामने से नजर आ रहा हो |
और इसी प्यार पे चलकर जिन्दगी बदल जाती है…….