Pyar To Rahega hi – Love Story in Hindi

Please share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on StumbleUponDigg this

मैं Rita, मेरी ये कहानी आज से 5 साल पहले की है जब मैं 10th में पढाई कर रही थी | मेरी ये कहानी एक Call से शुरू हुई थी | 24 Sep को मेरे Phone पर Call आया, Hello Rita वो आवाज़ किसी लड़के की थी मैंने बोला Yes आप कौन… मैं आपसे Friendship करनी चाहता हूं आप करोगी….. मैंने कहा I’m not interested और Call काट दी और हर रोज़ उसके Phone आने लगे मैं उसकी आवाज़ सुनते ही Phone बंद कर देती पूरा 1 महिना ऐसे ही चलता रहा फिर उसके Phone आने बंद हो गये और मैं अपनी पढ़ाई में Busy रहती थी उसका ख्याल मेरे दिमाग में एक दम उतर चूका था …..
हमारी दोस्ती होनी लिखी थी और हो भी गयी | 10 Nov को उसका फिर से Phone आया और मैंने Receive किया| Hello Rita Please Call मत काटना | Please सिर्फ 15 मिनट मुझसे बात कर लो | मैंने कहा ठीक है बोलिए इतने दिन बाद फिर से Call क्यों किया …. ऊन्होंने कहा मेरा नाम Amrit Singh है और मैं B.A कर रहा हूं | आप मुझे बहुत अच्छी लगती हैं | I Like you. But आप मुझसे बात ही नही करती थी तो मैंने सोचा आपको भुल जाऊ पर नही भुल पाया | वो बोलते जा रहा था मैं बस सुनते जा रही थी | मेरे चेहरे पर उनका नाम सुनते ही मुस्कराहट आ गयी थी Time का क्या कहूँ 15 मिनट क्या आधे घंटे से भी ज्यादा हो चूका था उनको बोलते हुए वो मुझे सब बता रहे थे उन्होंने मुझे कब देखा, कहाँ से नंबर मिला सब कुछ मैंने उन्हें Time याद दिलाया और वो ऐसे चुप जैसे पेपर पूरा ना हुआ हो और bell बज गया हो | Bye , उन्होंने ये कहकर Call काट दिया | कि फिर Call करेंगे ….. उस दिन में हम दोनों में रोज़ बातें होने लगी | उन्होंने 7 March को मुझे पहली बार I Love You कहा | मैं उनकी बातों से बहुत Impressed थी फिर भी मैंने उनसे कहा कि मैं उन्हें बिना देखे को Decision नही लुंगी | उन्होंने कहा ठीक है लेकिन उन्हें डर था कि कहीं मैं उन्हें Reject ना कर दूं | 17 March को हमारा मिलना Fix हुआ | मैं Hotel पहुंची तो मैंने देखा वो मेरी उडीक कर रहें थे | बाहर उन्हें देखते ही बहुत जयादा बेचैन हो गयी थी और बिना मिले ही वापस घर आ गयी | शाम को उनका Call आया वो बहुत परेशान थे उन्हें लग रहा था कि मैंने उन्हें Reject कर दिया है | पर ऐसा नही था | वो मुझे बहुत अच्छे लगे | लगभग 20 दिनों के बाद मैंने उससे I Love You बोल दिया | मुझे उनका बात करने का तरीका बहुत पसंद आया वो कभी कोई ऐसी बात नही करते जो मुझे बुरी लगे | वो मुझे मिलने को कहते और मैं मना कर देती फिर भी वो मुझसे कभी नाराज़ नही होते वो मेरी पढ़ाई में बहुत ध्यान मदद करते थे |
हमें बात करते हए कई महीने बीत चुके थे | 1 बार उन्होंने कहा कि वो मुझसे मिलना चाहते हैं | मैंने कहा ठीक है आप मेरे घर आ जाईये लेकिन 10 मिनट से ज्यादा मत रुकियेगा | वो मान गयी उस समय मेरे घर में कोई नही था वो आए 1 बार मैंने उन्हें पास से देखा | उनकी आँखें बहुत सुंदर थी उन्होंने मुझे Mobile दिया और चले गये | हम दोनों में कोई बात नही हुई ये बात August की है | अब हम Mobile पर बात करते थे …. हम कम ही बात करते थे क्योंकि दिन में समय नही मिलता और रात में मैं सो जाती | सुबह देखती तो 7-8 missed call आई होती | कुछ दिन बात मैंने ये बात अपनी दोस्त को बताई जो मेरी पड़ोसी थी … मैंने उसे पूछा क्या मेरे साथ Morning Walk पे चलेगी वो तयार हो गयी | मैं अपनी दोस्त Nidhi के साथ Morning Walk पे जाती | हम दोनों ने Decide किया कि क्यों ना हम अपने Boyfriend से Morning Time ही मिले और हमारा मिलना तय हुआ | हम सब पास ही रहते थे बस Amrit दूर रहते थे और जहाँ उनका घर था उसी तरफ हम Morning Walk के लिए जाते |
पहला दिन (24) Sep हम Morning Walk में मिले बहुत अँधेरा था (4:30 am) Nidhi और उसका Boyfriend आगे चले गये और हम दोनों पुल पर बैठ गये | क्यों पता नही मुझे बहुत डर लग रहा था मैं बार-बार जही सोच रही थी कि मुझे जहाँ नही आना चाहिए था | डर की वजह से मैं कुछ बोल भी नही पा रही थी | वो मेरा डर समझ गये और उन्होंने मुझसे वायदा किया कि जब तक वो मुझे पुरे इज्ज़त और सन्मान के साथ मुझे अपना नही बना लेंगे तब तक वो मुझे हाथ तक नही लगाएंगे | उनकी ये बात सुनकर मैं Relax हो गयी और उनकी इज्ज़त मेरी नजरों में और भी बढ़ गयी और अब हम रोज़ मिलने लगे | वो कहते कि वो बहुत Lucky है जो सुबह उठते ही उनका चेहरा देखने को मिल जाता है | हमारे बीच कभी झगड़ा नही होता था | बस वो मेरे पे 1 बार ही नाराज़ हुए थे | हुआ ये कि दीवाली पर वो जिद करने लगे कि मैं सबसे पहले उनकी लाई हुई मिठाई खाऊं जब हम Morning पर मिले तब वो 6pc गुलाब जामुन ले आए उस दिन Nidhi का Boyfriend भी नही आया था उस दिन Nidhi ने भी नही खाए वो मुझे मिठाई का डिब्बा देकर चले गये | Nidhi ने मुझसे कहा कि मैं 2pc खाकर फेंक दूं क्योंकि हम मिठाई घर लेकर नही जा सकते थे | मुझसे मिठाई फेंकी नही गयी और मैंने 6pc खा लिए जिसकी वजह से मेरी तबीयत ख़राब हो गयी वजह ये थी कि मुझे मिठाई पसंद नही थी और पहली बार मैंने एक साथ 6pc खा लिए थे जिसकी वजह से मुझसे उनसे डांट खानी पड़ी | इस बीच हम 2 बार Movie देखने गये और 3 बार Hotel में मिले | हम चारों साथ ही मिलते थे….. हमें मिलते हुए 4 महीने हो गये थे | तभी मुझे 1 ऐसा सच्च पता चला जिसने सब खत्म कर दिया और हम हमेशा के लिए दूर हो गये |