wo kali raat – hindi story

मेरा नाम रीया ( बदला हुआ नाम ) है ।मैं आज आपको आपनी सच्ची बात बताती हुँ यह बात मैंने आज तक किसी से share से नही की । यहा तक की आपनी सहेलियो से भी नही । पता नही कहा से शुरू करू । यह बात उस रात की है जब मैं और प्रेम (मेरा boyfriend )(बदला हुआ नाम )जब रात को घर वापिस आ रहे थे उस रात बारिश हो रही थी दूर दूर तक कुछ नही दिख रहा था मुझे बहुत डर लग रहा था । मैंने प्रेम को मना भी किया था कि आज हम वाहर नही जाएगे पर वो नही माना मेरा भी दिल कर रहा था की मैं प्रेम के साथ वाहर जाऊ ।हम दोनो घर से बाहर निकले और कार मे जा रहे थे पहले प्रेम आराम से गाडी चला रहे थे और बार बार मुझे छुने की कोशीश कर रहे थे मैने पहले उन्हे मना भी किया था कि मुझे ऐसे अच्छा नही लग रहा पर वो मान नहीं रहे थे शायद यह उस रात की वजह से ही हो मैंने फिर उन्हें मना किया पर वो नहीं माने । मैंने उन्हे कहा ऐसे Accident हो जाएगा पर वो नहीं मान रहे थे फिर मैंने गुस्से से कहा प्रेम मुझे घर जाना है तो उसने कार रोक दी मुझे पहले ही डर लग रहा था मैंने फिर उसे गुस्से से कहा की कार चलाओ पर वो नही माना उसने कहा अब तो यह कार नही चलेगी तुम चला सकती हो तो ये लो चाबी उसे पता था कि मुझे कार अच्छी तरह से चलानी नहीं आती फिर भी मैने उससे चाबी ले ली और कार चलानी शुरू कर दी पर प्रेम फिर भी हट नहीं रहे थे वो बार बार मजाक कर रहे थे फिर उन्होने कहा कार जरा तेज चलाओ पर मैंने अपना सारा ध्यान कार को चलाने मे लगाया हुआ था फिर एकदम से मैंने Break लगाई पर उस समय तक मेरी कार से एक कुता टकरा गया था वो बहुत जखमी हो गया था मुझसे उसका ददॅ नहीं देखा जा रहा था आज भी कई बार मुझे यह याद आता है कि मेरी कार से एक कुते का Accident हो गया था मैंने शरम के मारे यह बात किसी को नहीं बताई है । इसिए मैं उस रात को काली रात कहती हुँ ।